भारत हिंदू राष्ट्र है, इस सच को कोई नहीं बदल सकता : मोहन भागवत

भारत हिंदू राष्ट्र है, इस सच को कोई नहीं बदल सकता : मोहन भागवत

नई दिल्ली 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने मंगलवार को कहा कि संघ को किसी भी विचारधारा में नहीं बांधा जा सकता है। संघ किसी भी विचार में विश्वास नहीं करता है और उसे किसी भी पुस्तक से दर्शाया जा सकता है। जिसमें संघ के दूसरे प्रमुख एम एस गोलवलकर की किताब भी शामिल है। उन्होंने कहा, 'संघ का मुख्य मूल्य यह है कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है और इससे कोई समझौता नहीं किया जा सकता है।'

भागवत ने कहा कि इस मुद्दे को चर्चा के जरिए सुलझाया जा सकता है। उन्होंने कहा, "महाभारत, प्राचीन सेनाओं में उदाहरण रहे हैं, वेदों में नहीं' यह पहला मौका नहीं है, जब भागवत ने समलैंगिता पर संघ के रुख में बदलाव के संकेत दिए हैं। उन्होने कहा कि  हमारे यहां मतभेद हो सकता है, मनभेद नहीं। 

Related News
चुनाव : वोटरों को ले जा रही बस का एक्सीडेंट, तीन की मौत कई घायल
सोमवार की सुबह पीएम मोदी ने की ये खास अपील
इस मुस्लिम शख्स ने कहा, अयोध्या ही नहीं मुसलमान 11 विवादित मस्जिदें भी हिंदुओं को सौंप दें
चिदंबरम को एक और बड़ा झटका, ईडी को मिली तिहाड़ जेल में पूछताछ की इजाजत
भारत हिंदू राष्ट्र है, इस सच को कोई नहीं बदल सकता : मोहन भागवत
पी चिदंबरम से मिलने के लिए तिहाड़ जेल पहुंचे सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह