आज है देश के सबसे चहेते राष्ट्रपति का जन्मदिन, पढ़ाते हुए गई थी जान

आज है देश के सबसे चहेते राष्ट्रपति का जन्मदिन, पढ़ाते हुए गई थी जान

नई दिल्ली 

भारतीय इतिहास में 15 अक्टूबर का दिन बेहद खास है। भारत को मिसाइल और परमाणु शक्ति संपन्न बनाने वाले पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर एपीजी अब्दुल कलाम आज के ही दिन जन्मे थे।  भारत के मिसाइल प्रोग्राम को ऊंचाईयों तक पहुंचाने में उनका योगदान अतुलनीय है। विज्ञान और वैज्ञानिकों के प्रति उनका लगाव ही था कि राष्‍ट्रपति रहते हुए भी वैज्ञानिक उनसे इस बाबत सलाह भी लेते थे और वो इसमें दिलचस्‍पी भी लिया करते थे। 

कलाम 2002-2007 तक देश के 11वें राष्‍ट्रपति रहे। उन्‍हें 1997 में देश के सर्वोच्‍च सम्‍मान भारत रत्‍न से भी नवाजा गया था। इससे पहले उन्‍हें 1981 में पद्म भूषण, 1990 में पद्म विभूषण सम्‍मान मिल चुका था। कलाम अभाव के बाद भी पढ़ाई में हमेशा से ही अव्‍वल रहे। 

करोड़ों लोगों की प्रेरणा कलाम को 27 जुलाई को आईआईएम, शिलांग में 'Creating a liveable planet' पर लेक्‍चर देना था। इसी लेक्‍‍‍‍चर को देते हुए वो गिर पड़े थे, जिसके बाद उन्‍हें अस्‍पताल ले जाया गया था। वहां पर उन्‍हें मृत घोषित कर दिया गया। 

Related News
सरदार पटेल को लेकर पीएम मोदी ने कह दी यह बात
हर युवा को पढ़ना चाहिए अब्दुल कलाम के ये विचार
आज है देश के सबसे चहेते राष्ट्रपति का जन्मदिन, पढ़ाते हुए गई थी जान
दशहरा के मौके पर दोस्‍तों और परिजनों को ये संदेश भेजकर दें बधाई
आज है विजयादशमी, इन कामों को करने से मिलता है शुभ फल
उत्तर प्रदेश : तेजस एक्सप्रेस में बुकिंग शुरू, इस दिन से कर सकेंगे सफर