आखिर क्यों ओवैसी ने कहा, गैरों पर करम अपनों पर सितम

आखिर क्यों ओवैसी ने कहा, गैरों पर करम अपनों पर सितम

नई दिल्ली 

सोमवार को नई दिल्ली में यूरोपियन संसद के सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से मुलाकात की। इस मुलाकात में जम्मू-कश्मीर के मसले पर खुलकर बात हुई और मौजूदा हालात के बारे में बात की गई। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और एनएसएअजित डोभाल से ये चर्चा कर ईयू का प्रतिनिधिमंडल संतुष्ट दिखा। यूरोपियन संसद का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को जम्मू-कश्मीर का भी दौरा करेगा। 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद किसी विदेशी प्रतिनिधिमंडल का ये पहला कश्मीर दौरा होगा। 

सरकार के इस कदम पर विपक्षी पार्टियां सरकार से पूछ रही है कि जब अपने सांसदों को कश्मीर जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है तो विदेशी सांसदों को क्यों भेजा जा रहा है? यही नहीं विपक्ष यह भी पूछ रहा है कि विदेशी सांसदों को कश्मीर भेजा जाना कश्मीर का अंतरराष्ट्रीयकरण नहीं है?

इस बारे में ट्वीट करते हुए एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ''यूरोपियन यूनियन के सांसद जो इस्लामोफोबिया (नाजी प्रेम) नाम की बीमारी से पीड़ित हैं, वो मुस्लिम बहुल घाटी जा रहे हैं। गैरों पे करम, अपनों पर सितम, ऐ जा-ए-वफा, एक जुल्म न कर, रहने दे अभी छोड़ा सा धरम।''

Related News
ट्रेन में गैस सिलेंडर पर खाना बना रहे थे दो यात्री, विस्फोट से 65 लोगों की मौत
आखिर क्यों 17 साल की ये लड़की एक दिन के लिए बनाई गई पुलिस कमिश्नर
अमेरिकी सेना ने बगदादी के उत्तराधिकारी को भी किया ढेर : डोनाल्ड ट्रंप
कश्मीर में पाँच मजदूरों की दर्दनाक हत्या
आखिर क्यों ओवैसी ने कहा, गैरों पर करम अपनों पर सितम
दिवाली के पटाखों से धुआं-धुआं दिल्ली, वायु गुणवत्ता हुई ‘बहुत खराब’