वाराणसी : ओम प्रकाश राजभर जैसे लोगों के साथ ऐसा ही होना चाहिए : अनिल राजभर

वाराणसी : ओम प्रकाश राजभर जैसे लोगों के साथ ऐसा ही होना चाहिए : अनिल राजभर

वाराणसी 

लोकसभा चुनाव खत्म होते ही अब बीजेपी और सुहेलदेव भारतीय समज पार्टी (सुभासपा) का नाता सोमवार को पूरी तरह से खत्म हो गया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सिफ़ारिश पर राज्यपाल राम नाईक ने ओमप्रकाश राजभर समेत उनके सभी नेताओं का मंत्री पद का दर्जा भी वापस ले लिया है। 

इसे लेकर वाराणसी में पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रदेश सरकार में राज्‍यमंत्री अनिल राजभर ने सरकार के फैसले को जायज बताते हुए कहा है कि ऐसे लोगों के साथ ऐसा ही होना चाहिए।

ओम प्रकाश राजभर को मंत्रीमंडल से बर्खास्‍त किये जाने पर अनिल राजभर ने कहा कि काफी दिनों से ओम प्रकाश राजभर अपने पॉकेट में इस्‍तीफा लेकर घूमने की बात कहते रहे हैं, लिहाजा सरकार ने उनके मन की मुराद पूरी कर दी है। अनिल राजभर ने ये भी कहा कि ओम प्रकाश राजभर बीजेपी के बड़प्‍पन का नाजायज फायदा उठा रहे थे और उनके जैसे लोगों के साथ ऐसा ही होना चाहिए। 

मालूम हो कि योगी आदित्यनाथ की सिफ़ारिश के बाद मंत्रिमण्डल के सदस्य तथा मंत्री पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं विकलांग जन विकास मंत्री ओम प्रकाश राजभर को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने तात्कालिक प्रभाव से प्रदेश मंत्रिमण्डल की सदस्यता से पदमुक्त कर दिया है। इतना ही नहीं, राजभर की पार्टी के उन सभी नेताओं को भी हटा दिया गया है, जिनको मंत्री का दर्जा दिया गया था।

आपको बता दें कि ओम प्रकाश राजभर योगी सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण-दिव्यांग जन कल्याण मंत्री थे। बीते काफी लंबे समय से वह भारतीय जनता पार्टी और खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बोलते रहे हैं, जिसकी आलोचना होती रही है। 

Related News
वाराणसी : पाकिस्तान को पटखनी देने वाले इस भारतीय खिलाड़ी को अजय राय ने किया सम्मानित
मिर्जापुर : एसपी ने थाना प्रभारी और चौकी इंचार्ज किया लाइन हाजिर
वाराणसी में पीएम मोदी ने इस कपड़े को खरीदने की गुजारिश की
उत्तर प्रदेश : मायावती को लगा तगड़ा झटका, पांच विधानसभा क्षेत्र के अध्यक्षों ने दिया इस्तीफा
इस वजह से भाजपा विधायक समेत आठ पर केस दर्ज करने का हुआ आदेश
धनतेरस पर स्वर्णमयी मां अन्नपूर्णा के दर्शन के लिए श्रद्धलुओं की लंबी कतार