लाकडाउन में माँ की मौत के बाद मुम्बई से गाँव जाना चाहता था परिवार, फ़िल्म स्टार सोनू सूद ने किया मदद

लाकडाउन में माँ की मौत के बाद मुम्बई से गाँव जाना चाहता था परिवार, फ़िल्म स्टार सोनू सूद ने किया मदद

वाराणसी । फ़िल्म स्टार सोनू सूद महाराष्ट्र में फंसे प्रवासियों की   लगातार मदद कर रहे है।ऑटोचालक सालीकराम शुक्ला का परिवार भी विपत्तियों में ऐसा घिरा की उन्हें कोई रास्ता भी नही दिख रहा था। पत्नी की मौत के बाद  अंतिम संस्कार महराष्ट्र में कर परिवार फैज़ाबाद के गुरहटा पैतृक गांव पर बाकी कर्मकांडो को करना चाहता था। ट्रेन में टिकटों कि बुकिंग पहले से ही फूल और दूसरा टिकट के उतने पैसे भी पास नही बचे थे। इस बात की जानकारी सोनू सूद को समाजसेवी नितेश पांडेय के ट्वीट से हुई, उन्होंने 11 तारीख को महराष्ट्र से वाराणासी जाने वाली ट्रेन में शालीक राम शुक्ला, बेटे अमन शुक्ला और बेटी विनीता शुक्ला का टिकट करवा दिया।अमन शुक्ला ने  कहा कि सोनू रीयल स्टार है। गरीबो के मसीहा है। अब ट्रेन वाराणासी न जाकर जौनपुर तक जाएगी हम लोग सुल्तानपुर उतर जाएंगे।


अमन ने बताया पापा ने दोस्तो से पैसे उधार लेकर किसी तरह लाकडाउन में दिन काटा।लाकडाउन में 29 मई को मां  कांती शुक्ला (45वर्ष) की तबियत अचानक बिगड़ गयी। उनको अस्पताल में एडमिट कराया गया। 30 मई को उनकी मृत्य हो गयी। डॉक्टरों ने नेचुरल डेथ बताया, कोरोना टेस्ट निगेटिव आया। डेथ की वजह कार्डिक अटैक था। रीति रिवाज से संस्कार के बाद आगे का सभी संस्कार, त्रयोदशी  हम गांव से करना चाहते थे। पापा हफ़्तों परेशान हुए पर टिकट का कोई इंतेजाम नही हो पाया। उन्होंने ने भी समाजसेवी  नितेश पांडेय से संपर्क किया। सोनू सूद ने हमारा टिकट कन्फ़र्म करा दिया।

अमन महराष्ट्र में बैचलर ऑफ मैनेजमेंट की पढ़ाई करता है।बहन अनामिका इंटर की पढ़ाई करती है। पिता ऑटो चलाते है।बोरीवली शिवाजीनगर में किराए के मकान में रहते है। अमन ने बताया 6 महीने तक अब वहां नही जाना है। गांव पर ही रुकने का मन है।

महराष्ट्र में मम्मी की तबियत बिगड़ी प्राइवेट अस्पतालों ने हाथ खड़ा कर दिया था। दिल टूट गया है। गांव पर लोग अपने तो है।

Related News
UP Board Result 2020: दसवीं में रिया जैन ने किया टॉप, 83.31 फीसदी विद्यार्थी पास
लाकडाउन में माँ की मौत के बाद मुम्बई से गाँव जाना चाहता था परिवार, फ़िल्म स्टार सोनू सूद ने किया मदद
योगी आदित्यनाथ का नया आदेश, कैबिनेट में जाने से पहले मंत्रियों को जमा करना होगा मोबाइल फोन
ईवीएम विरोध को लेकर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कही यह बात
आगरा एक्सप्रेस-वे पर ट्रैक्टर ट्रॉली, बस से टकराने से चार बच्चों समेत पाँच की मौत
उत्तर प्रदेश : भारत को दहलाने वाले आज डर-डरकर जीने को मजबूर : पीएम मोदी