वाराणसी: मुख्तार गैंग के करीबी प्रतिबंधित मछली माफिया को पुलिस ने किया गिरफ्तार

वाराणसी: मुख्तार गैंग के करीबी प्रतिबंधित मछली माफिया को पुलिस ने किया गिरफ्तार

वाराणसी। पुलिस व जिला प्रशासन (खाद्य सुरक्षा विभाग व मत्सय विभाग) ने माफिया सरगना मुख्तार अंसारी के करीबी व सहयोगी  प्रतिबन्धित मछली व अण्डा माफिया सलीम को उसके दो साथियो के साथ गिरफ्तार कर लिया है।

एस एस पी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि पुलिस को पूर्व से ही सूचना मिल रही थी कि माफिया सरगना मुख्तार अंसारी के सहयोगी व गुर्गे अवैध रुप से प्रतिबन्धित मछली व अण्डे की बिक्री धड़ल्ले से करने के साथ ही शहर के मछली मण्डियो से धमकी देकर अवैध वसूली कर रहें है।  इस सूचना पर प्रभारी निरीक्षक जैतपुरा, प्रभारी निरीक्षक चेतगंज, प्रभारी निरीक्षक सिगरा, प्रभारी निरीक्षक कैण्ट, मतस्य निरीक्षक एवं नायब तसीलदार एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी की टीम ने सयुंक्त रूप से छापेमारी कर प्रतिबन्धित मांगुर 6.5 कुन्टल (3 ड्रम) अनुमानित कीमत  एक लाख रुपया, 192 पेटी अण्डा (एक पेटी में 210 अण्डे) अनुमानित कीमत दो लाख दस हजार रुपया तथा 5.5 कुन्टल प्रतिबन्धित मछलीयां अनुमानित कीमत एक लाख दस हजार सहित नगद 59,610 रुपया नगद बरामद कर लिया। पुलिस तीनों अभियुक़तों को गिरफ्तार कर विधिक कार्यवाही कर रही है।  

पुलिस के अनुसार सलीम मुख्तार अंसारी गैंग के आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने के प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष रूप से सहयोगी रहा है। इसने 20 साल पूर्व हत्या के एक मामले में मुख्तार की जमानत भी ली थी। पिछले ढ़ाई वर्षो से यह अवैध रूप से न केवल स्वयं मछली का कारोबार करता था, बल्कि प्रतिबंधित ‘मांगुर’ प्रजाति की मछलियों की सप्लाई भी बनारस सहित आस-पास के जिलों में अपने अन्य सहयोगियों के माध्यम से करता है। यह भी गोपनीय रूप से संज्ञान में आया है कि मछली बाजार/ठेका पर अपनी धौंस दिखाकर अवैध रूप से लोगों से प्रति किग्रा वसूली भी करता है। इसने कैंट क्षेत्र में बंग्ला नं  51 को लीज पे ले रखा है जहां पर तालाब में प्रतिबन्धित मंछलियों को रखता है जहां से बरामदगी भी हुई है। लीज के प्रपत्रों की जांच अलग से की जा रही है। इसके अतिरिक्त इसके द्वारा रजिस्ट्रेशन/लाइसेंस को दरकिनार कर ‘अण्डे’ का भी व्यवसाय किया जा रहा था जिसको सीज कर जब्त किया गया है। यह पूर्व में वर्ष 2012 के विधान सभा चुनाव में कौमी एकता दल से चुनाव भी लड़ चुका है। पूछताछ में सलीम ने बताया  कि वह व्यापार के माध्यम से माफिया मुख्तार अंसारी के गुर्गों को आर्थिक मदद भी मुहैया कराता है।

Related News
वाराणसी STF के हांथ लगी बड़ी सफलता, तस्करों के साथ करोड़ों का मादक पदार्थ बरामद
वाराणसी: मुख्तार गैंग के करीबी प्रतिबंधित मछली माफिया को पुलिस ने किया गिरफ्तार
उत्तर प्रदेश में बेखौफ बदमाश, पत्रकार की गोली मारकर हत्या
मुख्तार अंसारी अवैध वसूली गैंग पर मऊ पुलिस का शिकंजा, 11 शातिरों पर 25-25 हजार रुपये पुरस्कार घोषित
राजस्थान के अलवर में शादी से लौट रही नाबालिग के साथ गैंगरेप, परिजनों ने एक आरोपी को पीट-पीटकर मार डाला
मुजफ्फरपुर शेल्टरहोम : सीबीआई ने किया खुलासा, ब्रजेश ठाकुर ने 11 लड़कियों की हत्या की