इंटरनेट उपयोगकर्ता रहें सतर्क : प्रो. टी एन सिंह

इंटरनेट उपयोगकर्ता रहें सतर्क : प्रो. टी एन सिंह

वाराणसी। एकेडमिक अवार्ड कमिटी, सी एस आई, के चैयरमैन प्रो. ए के नायक ने कहा कि लोगों में साइबर शिक्षा की ज्यादा जरूरत है। इसके माध्यम से साइबर उपयोग की जानकारी बढ़ेगी जिससे साइबर सुरक्षा के प्रति लोग सतर्क रहेंगे और इससे साइबर अपराध पर नियंत्रण भी किया जा सकता है। भारत में डिजिटल लिटरेसी तो बढ़ रही है लेकिन डिजिटल शिक्षा में अभी ज्यादा अंतर है। शहरी क्षेत्र के साइबर उपयोगकर्ता के मुकाबले ग्रामीण अभी काफी पीछे हैं।



प्रो. नायक महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा रविवार को 'साइबर सुरक्षा का सामाजिक प्रभाव' विषय पर आयोजित एकदिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार को बतौर मुख्य अतिथि विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन एप्लिकेशन तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में साइबर क्राइम की संभावना बढ़ जाती है जिसे रोकने के लिए साइबर सुरक्षा की आवश्यकता भी महसूस होने लगी है। प्रो. नायक ने कहा कि साइबर थ्रेट और साइबर अटैक बढ़ रहे हैं। इसपर नियंत्रण करना जरूरी हो गया है क्योंकि पूरा विश्व साइबर अपराध से परेशान है। उन्होंने बताया कि साइबर अपराध को रोकने के लिए एकीकृत सूचना, उसकी उचित उपलब्धता और विश्वसनीयता तीनों जरूरी है।

एकदिवसीय राष्ट्रीय वेबिनार के मुख्य वक्ता केंद्रीय विश्वविद्यालय झारखंड के कंप्यूटर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अध्यक्ष प्रो. एस सी यादव ने साइबर स्पेस, साइबर अपराध और सुरक्षा पर विस्तार से चर्चा करते हुए लोगों को चेताया कि मोबाइल फोन, कंप्यूटर, डेक्सटॉप आदि से इंटरनेट का उपयोग करते समय सतर्कता भी जरूरी है अन्यथा साइबर थ्रेट या अटैक का शिकार हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि विश्व की कुल आबादी के 59 प्रतिशत लोग इंट

Related News
सीआरपीएफ ने शौर्य दिवस मना कर दी जवानों को श्रद्धांजलि
नेशनल फेडरेशन कप जूनियर अंडर 20 ऐथलेटिक्स चैंपियनशिप में भी काशी कीकन्याओं ने लहराया परचम
पंच कवि चौरासी घाट के बैनर तले बजड़े पर कवि सम्मेलन व पुस्तक विमोचन सम्पन्न
द्वितीय ओपन महिला कराटे प्रतियोगिता व नशामुक्त काशी कार्यक्रम शुरू हुआ
चिकित्सा व समाजसेवा के क्षेत्र में किये उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित डॉ संध्या यादव
कुलपति प्रो. भटनागर ने श्रीमद भागवत कथा का किया श्रवण