सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को लगाई फटकार, पत्रकार प्रशांत को फौरन रिहा करे

सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को लगाई फटकार, पत्रकार प्रशांत को फौरन रिहा करे

नई दिल्ली 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखने वाले पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी की है. साथ ही अदालत की तरफ से प्रशांत कनौजिया को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया है। आज ई सुनवाई में अदालत ने कहा है कि एक नागरिक के अधिकारों का हनन नहीं किया जा सकता है, उसे बचाए रखना जरूरी है। 

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि प्रशांत कनौजिया ने जो शेयर किया और लिखा, इस पर यह कहा जा सकता है कि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था। लेकिन, उसे अरेस्ट किस आधार पर किया गया था?' सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आखिर एक ट्वीट के लिए उनको गिरफ्तार किए जाने की क्या जरूरत थी। 

गौरतलब है कि प्रशांत कनौजिया पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ एक टिप्पणी करने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक उन्होंने एक विडियो को शेयर करते हुए एक विवादित कैप्शन लिखा था। जिसके लिए उन्हें शुक्रवार को उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। 

Related News
शिवसेना सांसद ने दिया बयान, कहा- नरेंद्र मोदी और योगी के नेतृत्व में ही अयोध्या में बनेगा राम मंदिर
जया प्रदा ने आजम खान की सांसदी को दी चुनौती, लखनऊ खंडपीठ ने खारिज की याचिका
इस महीने से पटरी पर दौड़ेगी तेजस एक्सप्रेस, ऐसी होंगी सुविधाएं
नोएडा-ग्रेटर नोएडा को सीएम योगी का बड़ा तोहफा, शहरवासियों को मिलेंगी ये जनसुविधाएं
सोनिया का मोदी पर तंज, कहा- चुनाव में जीत के लिए सभी तरह के हथकंडे अपनाए, मर्यादाएं तोड़ी गईं
दो दिन पहले ही यूपी बार काउंसिल में इतिहास रचने वाली दरवेश यादव की हत्या