मोदी सरकार ने फिर अधिकारियों को किया जबरन रिटायर, सीबीआइसी के कमिश्नर रैंक भी शामिल

मोदी सरकार ने फिर अधिकारियों को किया जबरन रिटायर, सीबीआइसी के कमिश्नर रैंक भी शामिल

नई दिल्ली 

नरेंद्र मोदी सरकार ने मंगलवार, यानी 18 जून को एक बार फिर सरकार ने वित्त मंत्रालय के 15 सीनियर अफसरों को जबरन रिटायर करने का निर्णय लिया। इनमें से ज्यादातर के ख‍िलाफ भ्रष्टाचार, घूसखोरी के आरोप हैं, जिनमें मुख्य आयुक्त, आयुक्त और अतिरिक्त आयुक्त स्तर के अधिकारी शामिल हैं। बता दें कि इससे पहले भी मोदी सरकार ने एक दर्जन से अधिक अधिकारियों को रिटायर किया था। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, अधिकारियों को नियम 56 जे के तहत रिटायर किया गया था। इनमें 1985 बैच के आईआरएस अशोक अग्रवाल का नाम सबसे ऊपर है। आयकर विभाग में ज्वाइंट कमिश्नर रैंक के अफसर अग्रवाल ईडी के संयुक्त निदेशक रहे हैं और भ्रष्टाचार के आरोप में 1999 से 2014 के बीच निलंबित रहे हैं। इन पर कारोबारियों से वसूलीव तांत्रिक चंद्रास्वामी की मदद का आरोप रहा है।


Related News
नहीं रहीं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, दिल का दौरा पड़ने से निधन
बाढ़ से जूझ रहे इस राज्य में बिजली गिरने से 8 बच्चों की मौत, 9 झुलसे
प्रकृतिक आपदा झेल रहे इस राज्य में महसूस किए भूकंप के झटके
अयोध्या केस : 2 अगस्त को ओपन कोर्ट में होगी सुनवाई
40 साल बाद मिला इंसाफ! कोर्ट बोला-जुर्म के समय आरोपी नाबालिग था, रिहा करो
बिहार में बाढ़ का कहर : 26 लाख से ज्यादा लोग हुए प्रभावित