शनिदेव को करना चाहते हैं प्रसन्न तो करें ये उपाय

शनिदेव को करना चाहते हैं प्रसन्न तो करें ये उपाय

इस साल शनैश्चरी अमावस्या 4 मई यानि शनिवार को पड़ रही है। कहा जाता है कि इस दिन कुंडली में शनि देव से जुड़े जितने भी दुष्प्रभाव होते हैं वो इस दिन उनकी पूजा पाठ करने से दूर होते हैं। शनि सूर्य पुत्र एवं यमराज के भ्राता हैं। 

माना जाता है शनि अमावस्या के दिन दान और पुण्य करना चाहिए। ऐसा करने से पितृ दोष दूर होते हैं। शनि न्याय के देवता हैं। अपनी दशा साढ़ेसाती आदि में किए गए कर्म के भले या बुरे फल देते हैं। शनि कर्मों के हिसाब से सबको फल देते हैं।

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए आज के दिन तामसिक भोजन से परहेज करना चाहिए और सात्विक भोजन का सेवन करना चाहिए। तामसिक भोजन जैसे मांस-मदिरा आदि से शनि देव प्रकोपित होते हैं और इसके नकारात्मक परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

ये भी कहा गया है कि शनिदेव गरीब लोगों को कष्ट देने वाले लोगों को सजा देते हैं और उन्हें भी दरिद्रता भोगनी पड़ती है। कभी भी गरीब व असहाय लोगों को परेशान नहीं करना चाहिए। 

Related News
रमन रेती के पावन स्थली में मोरारी बापू की रामकथा
कीनाराम आश्रम में पूजी गयी कुमारी कन्याएँ और भैरव के बाल स्वरूप के पखारे गए पाँव
वाराणसी: भक्तों ने घर पर रहकर मनाया गुरु पूर्णिमा का पर्व
अपने घर पर ही रहकर मनायें गुरू पूर्णिमा का पर्व- अघोराचार्य बाबा सिद्धार्थ गौतम राम
शनिदेव को करना चाहते हैं प्रसन्न तो करें ये उपाय
इस वजह से होते हैं घर में ज्यादा झगड़े