अमित शाह का बड़ा बयान, कहा जम्मू कश्मीर में 6 महीने के लिए राष्ट्रपति शासन बढ़ाया जाए

अमित शाह का बड़ा बयान, कहा जम्मू कश्मीर में 6 महीने के लिए राष्ट्रपति शासन बढ़ाया जाए

नई दिल्ली 

शुक्रवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में जम्मू कश्मीर आरक्षण विधेयक सदन में पेश कर दिया है। अमित शाह सदन में लोकसभा में जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन 6 महीने के लिए बढ़ाने से जुड़ा प्रस्ताव सदन में रखा। इस दौरान गृहमंत्री ने आरक्षण बिल, आतंकवाद, कश्मीर में चुनाव, घाटी में शांति बहाल जैसे अहम मुद्दों पर बात रखी। 

सदन में अपनी बात रखते हुए अमित शह ने कहा कि जब कोई दल राज्य में सरकार बनाने के लिए तैयार नहीं था तो कश्मीर में राज्यपाल शासन लगाया गया था। इसके बाद विधानसभा को भंग करने का फैसला राज्यपाल ने लिया था। आगे बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि नौ दिसंबर 2018 को राज्यपाल शासन की अवधि खत्म हो गई थी और फिर धारा 356 का उपयोग करते हुए 20 दिसंबर से वहां राष्ट्रपति शासन लगाने का फैसला लिया गया। 2 जुलाई को छह माह का अंतराल खत्म हो रहा है और इसलिए इस राष्ट्रपति शासन को बढ़ाया जाए क्योंकि वहां विधानसभा अस्तित्व में नहीं है। 

Related News
चुनाव : वोटरों को ले जा रही बस का एक्सीडेंट, तीन की मौत कई घायल
सोमवार की सुबह पीएम मोदी ने की ये खास अपील
इस मुस्लिम शख्स ने कहा, अयोध्या ही नहीं मुसलमान 11 विवादित मस्जिदें भी हिंदुओं को सौंप दें
चिदंबरम को एक और बड़ा झटका, ईडी को मिली तिहाड़ जेल में पूछताछ की इजाजत
भारत हिंदू राष्ट्र है, इस सच को कोई नहीं बदल सकता : मोहन भागवत
पी चिदंबरम से मिलने के लिए तिहाड़ जेल पहुंचे सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह