जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने वाले विधेयक को राज्यसभा में मिली मंजूरी

जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने वाले विधेयक को राज्यसभा में मिली मंजूरी

नई दिल्ली 

सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने वाले विधेयक पेश किया। कश्मीर घाटी में छह महीने के लिए राष्ट्रपति शासन बढ़ाए जाने को लोकसभा से मंजूरी मिल गई है। मालूम हो कि इससे पहले शुक्रवार को यह विधेयक लोकसभा में  पेश किया गया था। जिसपर कांग्रेस सहित विपक्षी दलों ने विरोध दर्ज किया था।

जम्मू-कश्मीर में 3 जुलाई से एक बार फिर से राष्ट्रपति शासन लागू हो जाएगा। जून 2018 से वहां राज्यपाल शासन लगा है। जिसकी समयावधि 2 जुलाई को खत्म हो रही है। 21 नवंबर को राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने विधानसभा भंग कर दी थी। जिसके 20 दिसंबर से राष्ट्रपति शासन वहां लागू है।

Related News
पूर्व पीएम चंद्रशेखर के बेटे नीरज शेखर सपा से नाता तोड़ बीजेपी में हुए शामिल
जो बीजेपी के फैसले का समर्थन नहीं करता है, उन्हें वे देशद्रोही कहते हैं : असदुद्दीन ओवैसी
अमित शाह के जवाब पर ओवैसी का पलटवार, बोले- वे सिर्फ गृह मंत्री हैं...कोई भगवान नहीं
कलराज मिश्र बनाए गए हिमाचल के राज्यपाल, इन्हें दी गई गुजरात की जिम्मेदारी
लोकसभा में ओवैसी को ये क्या बोल दिए अमित शाह
उमर अब्दुल्ला ने हेमा मालिनी पर कसा तंज़, कहा- अगली बार पहले अकेले में प्रैक्टिस कर लीजिएगा