वाराणसी : ऐसे निभा सकते हैं गौ-पालकों का साथ

वाराणसी : ऐसे निभा सकते हैं गौ-पालकों का साथ

वाराणसी 

बनारस शहर से गाय भैंसो का ऊंचे जुर्माने पर चालान किया जा रहा है। मवेशी रखने वाले लोगो को शहर से  पूरी तरह से बाहर करके ग्रामीण क्षेत्र में जाने को मजबूर किया जा रहा है। बनारस शहर दूध के व्यापक रोजगार से जुड़ा हुआ है यहाँ मलाई,रबड़ी,दूध घी,मिठाई का बड़ा कारोबार है। 

खोवा मंडी से बनारस ही नहीं आस पास के जिलों तक को सेवा दी जाती है। शिव मंदिरों में दुग्धभिषेकों से लगायत पूजा पाठ के सब तरह के कार्यो में दूध और उससे बनी चीजो की जरूरत होती है।

सनातनी परम्परा के घरो में आज भी गोबर से जमीन लीपने के संस्कार दिनचर्या में हैं। सरकार भैंस,गाय को शहर से बाहर करके शहर की जीवन शैली प्लास्टिक थैले में बिक्री हो रहे दूध पर आश्रित करना चाहती है। इन गोपालको का रोजगार जाएगा और हजारो परिवार गरीबी के शिकंजे में फंसने वाले है।

इस आपात मुद्दे पर प्रभावित गोपालकों की एक बैठक रखी गयी है। यह बैठक रामकुण्ड अखाङा लक्सा में आज (शुक्रवार) दोपहर दो बजे रखी है। आप भी बैठक में हिस्सा लेकर गौपोलकों का साथ निभा सकते हैं। 

Related News
वाराणसी : पाकिस्तान को पटखनी देने वाले इस भारतीय खिलाड़ी को अजय राय ने किया सम्मानित
मिर्जापुर : एसपी ने थाना प्रभारी और चौकी इंचार्ज किया लाइन हाजिर
वाराणसी में पीएम मोदी ने इस कपड़े को खरीदने की गुजारिश की
उत्तर प्रदेश : मायावती को लगा तगड़ा झटका, पांच विधानसभा क्षेत्र के अध्यक्षों ने दिया इस्तीफा
इस वजह से भाजपा विधायक समेत आठ पर केस दर्ज करने का हुआ आदेश
धनतेरस पर स्वर्णमयी मां अन्नपूर्णा के दर्शन के लिए श्रद्धलुओं की लंबी कतार