सोनभद्र में हुए नरसंहार और बर्बर उत्पीड़न के ख़िलाफ़ बीएचयू गेट पर जोरदार प्रदर्शन

सोनभद्र में हुए नरसंहार और बर्बर उत्पीड़न के ख़िलाफ़ बीएचयू गेट पर जोरदार प्रदर्शन

वाराणसी 

शनिवार सायं 4.30 बजे भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन एनएसयूआई (NSUI) के आह्वान पर अन्य छात्र संगठनों ने बीएचयू गेट लंका वाराणसी पर सोनभद्र में हुए नरसंहार और बर्बर उत्पीड़न के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया। मालूम हो कि सोनभद्र के घोरावल क्षेत्र में 10 लोगो की गोली मारके हत्या कर दी गई थी। और दर्जनों घायलावस्था में जीवन मरण से अस्पताल के बिस्तर पर पड़े तड़प रहे हैं। 

इतने बड़े सामूहिक हत्याकांड से पूर्वांचल में भय की लहर दौड़ गयी है। कानून व्यवस्था के ऊपर गम्भीर सवाल उठे है। ऐसी विकट स्थिति में कांग्रेस प्रभारी श्रीमती प्रियंका गाँधी जी घायलों से मिलने बीएचयू स्थित ट्रामा सेंटर में मिलने पँहुची थी। घायलों के परिजनों ने प्रियंका जी से गाँव के भयंकर हालात के बारे में विस्तार से बताया। पुलिस और व्यवस्था के लोगो की लापरवाही और दुर्घटना में मिलीभगत के आरोप भी तीमारदारों ने लगाया। 

प्रियंका गांधी ने सोनभद्र जाकर स्थलीय निरीक्षण स्वयम करने का निर्णय लिया। लेकिन सूबे के अजीबोगरीब सत्ताधीश योगी जी को ये बात नागवार गुजरी। उन्होंने पहले तो प्रियंका गांधी जी को सोनभद्र जाने से रोका। न केवल रोका बल्कि हिरासत में लेकर चुनार गेस्ट हाउस पर रखा।

प्रदर्शन में वक्ताओं ने आगे बात बढ़ाते हुए कहा कि सोनभद्र दुर्घटना के बाद सचिव वगैरह के स्तर की जांच कमेटी बनी है । जिसकी रपट आने पर दोषियों पर सख़्त कार्यवाही होने की बात थी। लेकिन प्रियंका जी के सोनभद्र जाने से जाँच समय से काफी पहले पूरी हुई। उक्त प्रदर्शन मे नीरज, विकास सिंह,दिवाकर,रजत, थिर्ति,अवंतिका, पंकज,विष्णु, धनंजय, चिंतामणि,राज, प्रेम, आकाश,  आनंद, रोशन, योगेश, रविन्द्र, चंदन समेत तमाम छात्र शामिल रहे।

Related News
वाराणसी : पाकिस्तान को पटखनी देने वाले इस भारतीय खिलाड़ी को अजय राय ने किया सम्मानित
मिर्जापुर : एसपी ने थाना प्रभारी और चौकी इंचार्ज किया लाइन हाजिर
वाराणसी में पीएम मोदी ने इस कपड़े को खरीदने की गुजारिश की
उत्तर प्रदेश : मायावती को लगा तगड़ा झटका, पांच विधानसभा क्षेत्र के अध्यक्षों ने दिया इस्तीफा
इस वजह से भाजपा विधायक समेत आठ पर केस दर्ज करने का हुआ आदेश
धनतेरस पर स्वर्णमयी मां अन्नपूर्णा के दर्शन के लिए श्रद्धलुओं की लंबी कतार