सिग्निफाइ और बोस्टन यूनिवर्सिटी का शोध, कोविड-19 का कारण बनने वाले वायरस को ऐसे किया जा सकता है निष्क्रिय

सिग्निफाइ और बोस्टन यूनिवर्सिटी का शोध, कोविड-19 का कारण बनने वाले वायरस को ऐसे किया जा सकता है निष्क्रिय

नीदरलैंड्स। सिग्निफाइ और बॉस्टन यूनिवर्सिटी ने नैशनलइन्फेक्शियस डिसिसेस लैबोरेटरिज (एनईआइडीएल) के साथ मिलकर एक शोध संचालित किया जिसमें सिग्निफाइ के यूवी-सी लाइट स्त्रोतों के कोविड-19 का कारण बनने वाले वायरस एसएआरएस-सीओवी-2 को निष्क्रिय करने पर प्रभावी साबित होने की पुष्टि की गयी है। 

एसएआरएस-सीओवी-2 महामारी की शुरुआत से ही बोस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में माइक्रोबायोलॉजी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. एन्थनी ग्रिफिथ्स और उनकी टीम इस क्षेत्र में वैज्ञानिक प्रगति की सहायता के लिए साधनों का विकास करने के लिए कार्यरत रही है। अपने शोध के दौरान उन्होंने संरोपित सामग्री का उपचार सिग्निफाई लाइट स्रोत से आने वाले यूवी-सी रेडिएशन की विभिन्न मात्राओं के साथ किया और विभिन्न परिस्थितियों में निष्क्रिय करने की क्षमता का मूल्यांकन किया। टीम ने 5mJ/cm2 की मात्रा को लागू किया जिसके परिणामस्वरुप 6 सेकंड में एसएआरएस-सीओवी-2 वायरस में 99% की कमी आई। इस डाटा के आधार पर यह निर्धारित किया गया कि 22mJ/cm2 की मात्रा से 25 संकेड में 99.9999% की कमी के परिणाम प्राप्त होंगे।  

 डॉ. एन्थॉनी ग्रिफिथ्स ने कहा , “हमारे परीक्षण के नतीज़े दर्शाते हैं कि यूवी-सी रेडिएशन के विशिष्ट मात्रा के ऊपर, वायरस पूरी तरह निष्क्रिय कर दिए गए: केवल कुछ सेकंड में ही हमें कोई भी वायरस नहीं मिला ।” “हमने जो निष्कर्ष पाए हैं उसे लेकर हम काफी उत्साहित हैं और हम उम्मीद करते हैं कि इससे ऐसे उत्पादों को विकसित करने में तेज़ी आएगी जो कोविड-19 के फैलाव को रोकने में मदद कर सकते हैं।”

 यूवी-सी लाइट स्रोतों में सिग्निफाई अग्रणी है और 35 सालों से भी ज़्यादा समय से यूवी टेक्नोलॉजी में सबसे आगे रही है। यूवी-सी लाइटिंग में नवाचार का इसका इतिहास साबित किया जा चुका है, जिसे सर्वोच्च सुरक्षा मानकों की तर्ज़ पर डिज़ाइन, निर्मित और इन्स्टॉल किया जाता है।

“कोरोनावायरस के खिलाफ युद्ध में बोस्टन यूनिवर्सिटी के साथ सफल सहयोग को लेकर मैं बहुत खुश हूँ। बोस्टन यूनिवर्सिटी ने वायरस मुक्त वातावरण उपलब्ध कराने की तलाश में जुटे कंपनियों और संस्थानों के लिए बचावात्मक उपाय के तौर पर हमारे लाइट स्रोतों की प्रभावकारिता की पुष्टि की है। यह कहना है सिग्निफाई के सीईओ एरिक रॉन्डोलाट ने कहा। “कोरोनावायरस के खिलाफ युद्ध में मदद करने की इस टेक्नोलॉजी की क्षमता को देखते हुए, सिग्निफाई इस टेक्नोलॉजी को केवल उसके एक्सक्लूसिव इस्तेमाल के लिए नहीं रखेगी बल्कि इसे अन्य लाइटिंग कंपनियों को उपलब्ध कराएगी। डिसइंफेक्‍शन के लिए लगातार बढ़ रही ज़रुरतों को पूरा करने के लिए हम आगामी महीनों में हमारी निर्माण क्षमता में कई गुना बढ़ोतरी करेंगे।”  

Related News
डीएनए मिलान ही करना है तो जनसंख्या नियंत्रण की चिल्लाहट क्यों: सुशील पंडित
सीआरपीएफ ने लगाया स्वास्थ्य शिविर
कोहरे से निरस्त की गई थी ट्रेनें, पुनः होंगी संचालित…
बीएमसी ने तोड़ा कंगना का दफ्तर तो ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा डेथ ऑफ डिमॉक्रेसी
सरकार के ‘स्किल इंडिया मिशन’ के तहत गोवा में ‘इन्टरनेशनल स्किल हब’ स्थापित किया जाएगा
साइकिल प्योर अगरबत्ती के निर्माता एन रंगा राव एंड संस एवं असम सरकार अगरबत्ती निर्माण के लिए बांस विकास परियोजना में सहयोगी बने